श्री चिराग पासवान

लोजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष

जमुई लोकसभा सांसद

चिराग पासवान (सांसद)

31 अक्टुबर 1982 में श्री चिराग पासवान जी का जन्म हुआ। ये बचपन से ही विलक्षण प्रतिभा के मेधावी छात्र थे। श्री चिराग पासवान को मम्मी-पापा और परिवार का प्यार प्राप्त हुआ लेकिन लाड़-प्यार के बावजूद इनके बचपन बहुत अनुशासन में बिता जिसके कारण विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने के दौरान ही युनिसेफ द्वारा आयोजित आॅल इंडिया टैलेंट शिप प्रतियोगिता में पुरे भारत में सातवे स्थान पर अपनी जगह बनाई जिसके कारण बहुत कम उम्र में ही विश्व भ्रमण का मौका मिला और तत्कालीन प्रधानमंत्री जी द्वारा इन्हें पुरस्कृत किया गया इनकी शिक्षा वायु सेना की स्कूल एयर फोर्स गोल्डेन जुबली में हुई जिसके कारण इनका बचपन काफी कठोर एवं अनुशासित रहा। स्कूल के जमाने से ही श्री चिराग पासवान जी को अच्छा वक्ता माना जाने लगा जिसके कारण स्कूल में आयोजित नाटकों में हिसा और बढ़-चढ़ कर लेने लगे। स्कूली शिक्षा खत्म करने के बाद उच्च शिक्षा के लिये कम्प्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई को चुन और इंजीनियरिंग करने के दौरान ही मुम्बई में फिल्म ‘‘मिले ना मिले हम‘‘ के द्वारा फिल्म जगत में शुरूआत की। वही मुम्बई में काम के दौरान बिहारियों के प्रति लोगों के मन में भरे अपमान को देखकर इन्हें बहुत ग्लानि हुई और बिहारियों के प्रति अपमान ने इन्हें वहां लम्बे समय तक रहने नही दिया एवं बचपन से ही पिता जी के कार्यों को देखकर बड़े हुये श्री चिराग पासवान जी के ह्दय में भी बिहारियों के खोये हुये सम्मान को वापस दिलाने के लिये जीवन भर का एक मकसद मिल गया। पार्टी के भी सभी वरिष्ठ नेता एवं कार्यकत्र्ता इन्हें अपने साथ पार्टी में देखना चाहते थे जिसके परिणाम स्वरूप इन्हें लोक जनशक्ति पार्टी का केन्द्रीय संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष पार्टी द्वारा नियुक्त किया गया। संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बनने के बाद श्री चिराग पासवान जी का लक्ष्य देश के विकास में पार्टी का योगदान हो उसके लिये बड़े अहम फैसले लिये। सन 2014 में श्री नरेन्द्र मोदी जी पर विश्वास जता उन्हें प्रधानमंत्री बनाने व देश के विकास की रफतार बढ़ाने हेतु जोरदार समर्थन किया और 2014 में पहली बार जमुई लोक सभा क्षेत्र से 85,947 मतों से जीतकर 16वीं लोक सभा के सदस्य बने जमुई लोक सभा का प्रतिनिधितत्व करते हुये विकास की पटरी पर लाने का प्रयास किया जिसके कारण नीति आयोग ने जमुई को देश के तेज गति से विकास करने वाले सर्वश्रेष्ठ पांच जिलों में शामिल किया। जिसके परिणाम स्वरूप 2014 के अपेक्षा 2019 लोक सभा चुनाव में तिगुने अन्तर से 5,28,771 मत प्राप्त कर लगभग ढाई लाख मतो से जीत हासिल की और 17वीं लोक सभा में दोबारा सदस्य चुन कर गये। इसी दौरान यु0एन0ओ0 (अमेरिका) और ब्रिक्स (रूस) सम्मेलनों में भारत का प्रतिनिधित्व भी श्री चिराग पासवान जी ने किया। श्री चिराग पासवान जी की कार्य कुशलता और निर्णय लेने की क्षमता को देखते हुये इन्हें 5 नवम्बर 2019 को लोक जनशक्ति पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। लोक जनशक्ति पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद बिहार फस्र्ट बिहारी फस्र्ट यात्रा में पुरे बिहार का भ्रमण किया जिससे बिहार के लोगों में पुनः फस्र्ट बनने की चेतना जगी है। श्री चिराग पासवान जी को एक राष्ट्रवादी अनुशासित व निडर नेता के रूप में जाना जाता है।